विश्व की सबसे मूल्यवान 500 कंपनियों की लिस्ट में देश की 11 कंपनियां शामिल

मुंबई– दुनिया की सबसे मूल्यवान 500 कंपनियों की लिस्ट में 11 भारतीय कंपनियां शामिल हैं। वैल्यू के लिहाज से यह सभी 11 कंपनियां प्राइवेट सेक्टर की हैं। भारत इस मामले में दसवें नंबर पर है। 

हुरून ग्लोबल 500 रिपोर्ट के मुताबिक, इन 11 कंपनियों का वैल्यू 14% बढ़ कर 805 अरब डॉलर हो गया है। यह भारत की अर्थव्यवस्था की तुलना में एक तिहाई है। इन सभी कंपनियों की आश्चर्यजनक बात यह है कि 2020 में कोरोना के बावजूद इनका वैल्यूएशन बढ़ा है। हालांकि ICICI बैंक और ITC के वैल्यूएशन में गिरावट आई है। 

रिपोर्ट के मुताबिक, मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) भारतीय कंपनियों में सबसे मूल्यवान कंपनी है। इसका वैल्यूएशन 2020 में 20.5% बढ़ कर 168.8 अरब डॉलर हो गया है। रैंकिंग के हिसाब से यह दुनिया में 54 वीं सबसे बड़ी कंपनी है।  

टाटा ग्रुप की IT कंपनी टाटा कंसलटेंसी सर्विसेस (TCS) दूसरे नंबर पर है। इसका वैल्यू 30% बढ़ कर 139 अरब डॉलर हो गया है। यह रैंकिंग में 73 नंबर पर है। भारत में यह दूसरी सबसे मूल्यवान कंपनी है। इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 12 लाख करोड़ रुपए है। 

HDFC बैंक भारत की कंपनियों में तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है। इसका वैल्यू 11.5% बढ़ कर 107.5 अरब डॉलर रहा है। जबकि हिंदुस्तान यूनिलीवर (HUL) का वैल्यूएशन 68.2 अरब डॉलर रहा है। इसके वैल्यू में 3.3% की बढ़त हुई है। इंफोसिस का वैल्यू 66 अरब डॉलर रहा है। हालांकि इसका वैल्यू इस दौरान 56.6% बढ़ा है। इसी तरह HDFC लिमिटेड का वैल्यू 2.1% बढ़ा है। इसका वैल्यूएशन 56.4 अरब डॉलर रहा है।  

लिस्ट के मुताबिक कोटक महिंद्रा बैंक का वैल्यूएशन 50.6 अरब डॉलर रहा है। इसके वैल्यू में पिछले साल 16.8% की बढ़त हुई है। ICICI बैंक का वैल्यूएशन आधा पर्सेंट कम हुआ है। इसका वैल्यू 45.6 अरब डॉलर रहा और यह 316 वें रैंक पर है। ITC के वैल्यू में 22% की भारी गिरावट आई है। इसका वैल्यू 32.6 अरब डॉलर रहा है। यह दुनिया की 500 मूल्यवान कंपनियों में 480 नंबर पर है।  

रिपोर्ट के मुताबिक 239 ऐसी कंपनियां हैं जिनकी कॉर्पोरेट ऑफिस भारत में नहीं है, फिर भी वह यहां पर कारोबार कर रही हैं। इन कंपनियों की देश के प्रमुख शहरों में केवल क्षेत्रीय ऑफिस हैं। देश की 11 सबसे मूल्यवान कंपनियों में से 7 कंपनियों का मुख्यालय या हेड क्वार्टर मुंबई में है। जबकि बंगलुरू, पुणे, कोलकाता और नई दिल्ली में एक-एक हैं।  

रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल जनवरी से लेकर दिसंबर के बीच भारतीय शेयर बाजार में 12% की बढ़त आई है। इस वजह से इन कंपनियों के वैल्यूएशन में भी बढ़त दिखी है। दुनिया की 500 कंपनियों की लिस्ट में एपल का वैल्यूएशन 2.1 लाख करोड़ डॉलर है। जबकि इसके बाद माइक्रोसॉफ्ट है। इसका वैल्यूएशन 1.6 लाख करोड़ डॉलर है। 500 कंपनियों में से 242 कंपनियां अमेरिका की हैं। जबकि चीन की 51 कंपनियां और जापान की 30 कंपनियां इस लिस्ट में हैं। वैल्यूएशन के लिहाज से चीन की कंपनियों की सबसे ज्यादा कीमत बढ़ी है। इनका वैल्यूएशन 73% बढ़ा है। सरकारी कंपनियों के लिाहाज से केवल भारतीय स्टेट बैंक (SBI) है जो इस लिस्ट में है। इसका वैल्यूएशन 33 अरब डॉलर है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *