इस साल में इक्विटी बाजार के जरिए कंपनियों ने जुटाया 1.78 लाख करोड़ रुपए

मुंबई– इस साल प्राइमरी और सेकेंडरी मार्केट से कंपनियों ने 1.78 लाख करोड़ रुपए जुटाए हैं। इस भारी भरकम रकम से कोरोना महामारी इक्विटी बाजारों पर अपना असर छोड़ने में नाकामयाब रही है। यह रकम मार्केट IPO, OFS और अन्य तरीकों से जुटाई गई है। 

साल 2020 में मार्च के बाद पसरी महामारी के बावजूद, इक्विटी बाजारों के माध्यम से 1 लाख 77 हजार 468 करोड़ रुपए जुटाया गया। यह आंकड़ा अब तक का आल टाइम हाई है। 2019 में 82 हजार 241 करोड़ रुपए जुटाए गए थे। उसकी तुलना में इस साल 116 पर्सेंट ज्यादा रकम जुटाई गई। किसी एक कैलेंडर वर्ष में सबसे ज्यादा जुटाई गई रकम 2017 में 1 लाख 60 हजार 032 करोड़ रुपए थी। 

आईपीओ में मजबूत रिटेल भागीदारी, लिस्टिंग के दिन अच्छा फायदा और क्यूआईपी और InvITs/REITs के माध्यम से जुटाई गई सबसे अधिक रकम इस साल की प्रमुख विशेषताएं रही हैं। आईपीओ के जरिए 26 हजार 770 करोड़ रुपए जुटाए गए। 2019 के कलेक्शन की तुलना में यह 40 पर्सेंट अधिक था। फॉलोऑन पब्लिक ऑफर (एफपीओ) से 15,024 करोड़ रुपए का निवेश आया और ओएफएस (ऑफर फ़ॉर सेल) से 21,458 करोड़ रुपए और आरईआईटी/इनवीट्स/क्यूआईपी से 84,501 करोड़ रुपए आए। 

अंतिम कटेगरी अर्थात आरईआईटी/इनविट्स ने 29 हजार 715 करोड़ रुपए का योगदान दिया। इससे वर्ष में कुल 1 लाख 77 हजार 468 करोड़ रुपए की इक्विटी से रकम जुटाने में मदद मिली। 7,485 करोड़ रुपए के बॉन्ड जारी किए गए। इसके साथ कुल रकम 1 लाख 84 हजार 953 करोड़ रुपए थी। 2019 में इसके मुकाबले कुल आईपीओ मार्केट 12,985 करोड़ रुपए था। इस साल में 18,637 करोड़ रुपए की बॉन्ड बिक्री शामिल थी। 

साल 2019 में इक्विटी के जरिए कुल एक लाख 878 करोड़ रुपए की रकम जुटाई गई थी। 2018 में आईपीओ बाजार अच्छा था और इसके जरिए 33 हजार 246 करोड़ रुपए की रकम जुटाई गई। हालांकि बावजूद इसके 2018 में कुल रकम 93 हजार 352 करोड़ रुपए ही जुटाई गई। 

आईपीओ के लिहाज से बेस्ट साल 2017 रहा है। इस साल में 68 हजार 827 करोड़ रुपए की रकम जुटाई गई थी। इस वजह से कुल रकम एक लाख 60 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा इस साल जुटाई गई। कोरोना की वजह से इस साल मेन बोर्ड पर कुल 15 आईपीओ ने 26 हजार 611 करोड़ रुपए जुटाए हैं। यह 2019 में आए 16 आईपीओ से जुटाई गई रकम 12 हजार 362 करोड़ रुपए से 115 पर्सेंट अधिक है।  

इस साल में सबसे बड़ा आईपीओ एसबीआई क्रेडिट कार्ड का रहा है। इसने 10,341 करोड रुपए आईपीओ से जुटाया था। इसी दौरान 15 आईपीओ में प्राइवेट इक्विटी और वेंचर कैपिटल निवेशकों ने 8 हजार करोड़ से ज्यादा की रकम जुटाई। प्रमोटर्स ने अपनी हिस्सेदारी बेचकर 7,880 करोड़ रुपए जुटाया। इन 15 आईपीओ में से 13 में एंकर निवेशकों ने पैसे लगाए और इन्होंने कुल 29 पर्सेंट हिस्सेदारी खरीदी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *