TRAI के पूर्व प्रमुख शर्मा भी बन गए किसान, पीएम किसान सम्मान निधि योजना से तीन किश्तों में मिला 6 हजार रुपया

मुंबई– इस देश में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी की कहावत आज भी सही साबित हो रही है। किसानों या गरीबों को मिलने वाला पैसा सही तरीके से उन तक नहीं पहुंचता है। पहुंचता भी है तो रुपए में केवल 15 पैसा। ताजे मामले में टेलीकॉम रेगुलेटर TRAI के पूर्व प्रमुख आर.एस शर्मा भी किसान बन गए हैं। उनके खाते में किसान सम्मान निधी की तीन किश्तें जा चुकी हैं।  

जानकारी के मुताबिक आर.एस शर्मा ने हालांकि इसके लिए अपने आपको कभी रजिस्टर्ड नहीं कराया है। वे UIDAI (आधार) के भी पूर्व प्रमुख रह चुके हैं। उनके भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के खाते में साल में तीन बार प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की किश्त पहुंची है। इसके तहत कुल 6 हजार रुपए उनको मिले हैं। शर्मा के नाम से यह खाता इसी साल जनवरी में खोला गया है। यह 9 महीने तक एक्टिव रहा था। 24 सितंबर को इसे बंद कर दिया गया।  

यह जानकारी सामने आने के बाद शर्मा ने कहा कि इस स्कीम में उन्होंने खुद कभी रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है। इसकी जिम्मेदारी राज्य सरकार की है कि कैसे उनके खाते में पैसा आया। राज्य सरकार ने बिना पहचान किए कैसे इसे वेरीफाइ किया है, यह भी महत्वपूर्ण है। रिपोर्ट के अनुसार, शर्मा ने कहा कि उनके बैंक खाते में 3 बार में 6 हजार रुपए आए हैं।

शर्मा उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले में एक किसान के तौर पर रजिस्टर्ड थे। उनका SBI अकाउंट जिसमें पैसे भेजे गए थे इसका उपयोग कृषि उपज के लिए किया जाता था। शर्मा ने कहा कि जब इस बारे में उन्हें पता चला तो उन्होंने बैंक को सूचित किया। शर्मा ने कहा कि वो पीएम किसान सम्मान निधि के रकम पाने के लिए अयोग्य हैं। क्योंकि वो इनकम टैक्स भरते हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना ( PM-Kisan Samman Nidhi Scheme) में फर्जीवाड़ा घटानाएं लगातार सामने आ रही हैं। हाल में महाराष्ट्र में बड़े पैमाने पर इस तरह का मामला सामने आया था। इसके बाद इन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। यही नहीं, कई बार तो उन लोगों के भी खाते में पैसे पहुंच गए जो केंद्र सरकार में नौकरी करते हैँ।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.