इन शेयरों में खरीदारी और इन शेयरों में बिकवाली, देश के दो बड़े फंड हाउस का फैसला

मुंबई– नवंबर महीने में देश के दो सबसे बड़े फंड हाउस ने कौन सा शेयर खरीदा है और कौन सा बेचा है, इसे आप देखकर निवेश का फैसला ले सकते हैं। क्योंकि फंड हाउस के पास सालों से फंड को मैनेज करने की अनुभवी टीम होती है, जो बस शेयर खरीदने और बेचने का काम करती है।  

देश के दूसरे नंबर के म्यूचुअल फंड HDFC म्यूचुअल फंड ने नवंबर महीने में कोल इंडिया का 80 लाख शेयर खरीदा है। कोल इंडिया विश्व की एकमात्र सबसे बड़ी कोयले की उत्पादक कंपनी है। HDFC में निवेश का मुख्य फैसला प्रशांत जैन करते हैं और उनकी टीम इसे पूरा करती है। इस फंड हाउस ने सरकारी कंपनियों के शेयरों पर दांव लगाया है। रूरल इलेक्ट्रिक कॉर्पोरेशन (REC) में इसने 40 लाख शेयर खरीदे हैं। जबकि ITC के भी 40 लाख शेयर खरीदे हैं।  

हालांकि इस फंड हाउस ने आईसीआईसीआई बैंक के एक करोड़ शेयर बेच डाले हैं। अंबूजा सीमेंट, टाटा स्टील, पावर ग्रिड और पंजाब नेशनल बैंक और पावर ग्रिड के 50-50 लाख शेयरों की बिक्री की है। यानी इन शेयरों में आगे तेजी नहीं होने की संभावना है। कुल मिलाकर इसने 76 शेयरों में नवंबर में अपनी हिस्सेदारी बढ़ा दी है। जबकि 92 शेयरों में हिस्सेदारी घटा दी है।  

ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस जैफरीज ने आईटीसी का लक्ष्य 265 रुपए का रखा है। यह शेयर अभी 213 रुपए के आस-पास चल रहा है। इसका बिजनेस कई सेक्टर्स में है। कोविड में इसे इसका फायदा हुआ है। इसी तरह इस फंड हाउस ने सन फार्मा, गेल, फेडरल बैंक, जमना ऑटो, हिंडालको, वेदांता, ल्युपिन, एचसीएल टेक्नोलॉजी, हिंदुस्तान एरोनाटिक्स आदि में भी जमकर खरीदी की है। इन कंपनियों का शेयर मार्च के निचले स्तर से अब तक 55 पर्सेंट से डेढ़ गुना तक बढ़ चुका है।  

सेक्टर की बात करें तो फंड हाउस ने बैंक ऑफ बड़ौदा और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक में एक एक लाख शेयर खरीदा है। इसने बजाज ऑटो में 13 हजार और मारुति सुजुकी में 60 हजार शेयर खरीदा है। महिंद्रा एंड महिंद्रा का 2.46 लाख शेयर खरीदा है। इसके अलावा कैडिला हेल्थकेयर, भारत डायनॉमिक्स, एयरटेल, डीएलएफ, अदाणी पोर्ट, रेडिको खेतान, टाइटन और एलएंटडी टेक्नोलॉजी में भी इस फंड हाउस ने खरीदी की है।  

बाटा इंडिया, कोलगेट, नालको, वीआईपी इंडस्ट्रीज से यह फंड हाउस पूरी तरह निकल गया है। इसने अशोक लेलैंड, डाबर, माइंडस्पेस और सन टीवी जैसे शेयरों में नई खरीदारी की है। अशोक लेलैंड का शेयर 6 महीने में 80 पर्सेंट बढ़ गया है। मारुति का लक्ष्य बढ़ाकर 8,677 रुपए कर दिया गया है। 

सबसे बड़े फंड हाउस SBI म्यूचुअल फंड ने कुछ शेयरों पर दांव खेला है। इसने स्माल और मिड कैप में खरीदारी की है। इसने सरकारी कंपनी NHPC का एक करोड़ शेयर खरीदा है। यह शेयर 22 रुपए पर है। पावर की खपत बढ़ने से कंपनी को इसमें तेजी दिख रही है। इसके अलावा इसने फेडरल बैंक, फिनोलैक्स इंडस्ट्रीज, वी-गार्ड जैसी कंपनियों में 10 से 55 लाख शेयरों की खरीदी की है। सोलर इंडस्ट्रीज, आईसीआईसीआई लोंबार्ड, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के शेयरों की भी इसने खरीदी की है।  

एसबीआई म्यूचुअल फंड ने एक्सिस बैंक, अदाणी पोर्ट, कोटक महिंद्रा बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, एलएंडटी, पावर ग्रिड, रिलायंस इंडस्ट्रीज और भारती एयरटेल के शेयरों की बिक्री की है। इसने गेल इंडिया, एसबीआई, हिंडालको और आईटीसी में खरीदी की है। आईटीसी को लेकर तेजी का नजरिया है। इसने एसबीआई, ग्लैंड फार्मा, शोभा के शेयरों में खरीदी की है। यह फंड हाउस 4.58 लाख करोड़ रुपए के असेट को मैनेज करता है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *