कोटक म्यूचुअल फंड के फार्मा पोर्टफोलियो ने एक साल में दिया 42.3 पर्सेंट का रिटर्न

मुंबई– देश में छठें नंबर की म्यूचुअल फंड कंपनी कोटक असेट मैनेजमेंट के पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विस डिवीजन (कोटक पीएमएस) यह निवेशकों के साथ उस लाभ को बांटेगा जो कोटक फार्मा एंड हेल्थकेयर पोर्टफोलियो से कमाया है। फार्मा और हेल्थकेयर स्टॉक इस समय बाजार के सबसे पसंदीदा शेयर हैं। 

कोटक फार्मा एंड हेल्थकेयर पोर्टफोलियो ने पिछले तीन सालों में 13 पर्सेंट का रिटर्न दिया है। जबकि निफ्टी फार्मा ने इसी अवधि में 4.8 पर्सेंट और निफ्टी-50 इंडेक्स ने 4 पर्सेंट का रिटर्न दिया है। 20 सितंबर 2016 में यह फार्मा फंड शुरू हुआ था। तब से इसने 9.2 पर्सेंट का फायदा दिया है। जबकि निफ्टी-50 ने 7 पर्सेंट का फायदा दिया है। निफ्टी फार्मा ने इसी अवधि में 1.1 पर्सेंट का घाटा दिया है। 

30 अक्टूबर 2020 तक एक साल में कोटक फार्मा एंड हेल्थकेयर स्ट्रेटेजी ने 42.3% का रिटर्न दिया है। जबकि बेंचमार्क निफ्टी 50 ने 2 पर्सेंट का घाटा दिया है। निफ्टी फार्मा इंडेक्स ने हालांकि इसी अवधि में 42.7% का फायदा निवेशकों को दिया है।

कोटक महिंद्रा एएमसी के पीएमएस के प्रमुख अंशुल सैगल ने कहा कि हम अपने पीएमएस निवेशकों को दिवाली बोनांजा दे रहे हैं। कोटक फार्मा एंड हेल्थकेयर पीएमएस ने 3 से 5 सालों के दौरान संबंधित बेंचमार्क की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है। हमने मजबूत फंडामेंटल वाले शेयरों को चुना है और उसमें निवेश किया है। इस कारण हमारे पीएमएस के निवेशकों को इतना बेहतर लाभ मिल पाया है।  

अंशुल ने कहा कि किसी ने अगर 4 साल पहले एक करोड़ रुपए का निवेश किया होगा तो वह राशि 31 अक्टूबर 2020 तक 1.44 करोड़ रुपए हो गई है। इसी अवधि में यह रकम निफ्टी में 1.32 करोड़ और निफ्टी फार्मा में 96 लाख रुपए हुई है। यानी दोनों बेंचमार्क से ज्यादा लाभ निवेशकों को कोटक के पीएमएस ने दिया है। निवेशकों के पास यह विकल्प है कि वे अपने लाभ को पूरा या थोड़ा कोटक के फिनटेक पोर्टफोलियो में या समान पोर्टफोलियो में निवेश कर सकते हैं। यानी वे चाहें तो फार्मा एंड हेल्थकेयर पोर्टफोलियो में ही इसे निवेश रख सकते हैं।  

दरअसल फार्मा और हेल्थकेयर सेक्टर में निवेश अक्सर एक सुरक्षित दांव माना जाता है। कोरोना वायरस ने इस सेक्टर को और आकर्षक बना दिया है। यह सेक्टर कई सालों के ग्रोथ साइकल पर जा सकता है। विश्लेषकों का मानना है कि घरेलू बाजार में इस सेक्टर में दो अंकों में ग्रोथ हो सकती है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *