आपकी नौकरी छूट गई है तो आपको सैलरी का 50 पर्सेंट हिस्सा मिलता रहेगा, सरकार 44 हजार करोड़ रुपए का फंड जारी करेगी

मुंबई– कोरोना संकट में अगर आपकी नौकरी छूट गई है तो भी आपको सैलरी का 50 पर्सेंट हिस्सा मिलता रहेगा। यही नहीं, आपने अगर दोबारा नौकरी पकड़ भी ली है तो भी आपको यह सुविधा मिलती रहेगी। हालांकि इसके लिए आपको कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) से अपने आपको जोड़ना होगा। आप यह दावा बेरोजगारी राहत पाने के तहत कर सकते हैं। इसके तहत अचानक नौकरी छूटने के बाद दो साल तक एक निश्चित आर्थिक मदद दी जाती है। 

दरअसल अटल बीमित कल्याण योजना (एबीकेवाई) के लिए सरकार जल्द ही बड़ा अभियान शुरू करने जा रही है। सरकार की योजना है कि इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाया जाए ताकि इसका लाभ बहुत से लोगों को मिल सके। इसके तहत कोरोना संकट में अगर आपकी नौकरी चली गई है तो आपको आपकी सैलरी का 50 प्रतिशत हिस्सा मिलता रहेगा। सरकार इसके लिए 44 हजार करोड़ रुपए का फंड जारी करेगी। 

अगर आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको ईएसआईसी की अटल बीमित व्‍यक्ति कल्‍याण योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कराना होगा। आप कर्मचारी राज्य बीमा निगम की बेवसाइट पर जाकर इस योजना का फॉर्म डाउनलोड कर आवेदन कर सकते हैं। अगर आप आर्गनाइज्ड सेक्टर में नौकरी करते हैं और आपकी कंपनी आपका पीएफ या ईएसआई हर महीने आपके वेतन से काटती है तो आप इसका फायदा ले सकते हैं। 

लाभ तभी मिलेगा जब आप ईएसआईसी के सदस्य होंगे। सितंबर में ही ईएसआईसी ने अटल बीमित कल्याण योजना का एक जुलाई 2020 से 30 जनवरी 2021 तक के लिए बढ़ाने का फैसला किया था। नए सामाजिक सुरक्षा कोड कानून के तहत सरकार ने यह भी फैसला किया है कि वह एसआईसी की सेवाओं का दायरा देश के सभी 740 जिलो में बढ़ाएगा। 

रोजगार मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि इसके लिए आयुष्‍मान भारत स्‍कीम के तहत रजिस्टर्ड अस्‍पतालों और थर्ड पार्टी सर्विस प्रोवाइडरों के साथ करार किया गया है। अगर किसी गलत व्यवहार, निजी कारण या फिर किसी कानूनी कार्रवाई के चलते बेरोजगारी की स्थिति पैदा होती है तो इस स्कीम का लाभ नहीं मिलेगा. ईएसआईसी के डाटा बेस में इंश्योर्ड व्यक्ति का आधार और बैंक खाता लिंक होना चाहिए. तभी उसे किसी तरह का फायदा मिल सकेगा. 

इसकी शर्तों के मुताबिक नौकरी छूटने के 30 दिनों के बाद ही इस स्कीम के लिए अब आवेदन किया जा सकता है। पहले यह समय सीमा 90 दिनों की थी। आपको इस स्कीम के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। आपका आवेदन सही पाया जाता है और शर्तों को पूरा करता है तो मंजूरी मिलने के 15 दिनों के बाद आपके बैंक खाते में रकम ट्रांसफर की जाएगी। 

इसके जरिए सरकार यह संदेश देना चाहती है कि वह प्रवासी मजदूरों का ध्यान रख रही है। क्योंकि ऐसे आरोप लगे हैं कि सरकार प्रवासी मजदूरों पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि करीबन 400 दावे रोजाना इसके जरिए मिल रहे हैं। पहले इसके जरिए 25 पर्सेंट ही सैलरी मिलती थी, बाद में बढ़ाकर 50 पर्सेंट कर दिया गया। ईएसआईसी करीबन 3.4 करोड़ परिवारों को मेडिकल इंश्योरेंस के जरिए सेवा देती है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *