वैल्यू डिस्कवरी फंड्स के प्रदर्शन में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल वैल्यू डिस्कवरी टॉप पर

मुंबई- बात कम समय की हो या लंबे समय की, म्यूचुअल फंड की वैल्यू डिस्कवरी स्कीम ने निवेशकों को बेहतर लाभ दिया है। 6 महीने की कम अवधि में इस स्कीम ने 18 प्रतिशत तक का लाभ दिया है। जबकि 10 साल की लंबी अवधि में इसने करीबन 15 प्रतिशत का लाभ दिया है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड का वैल्यू डिस्कवरी फंड रिटर्न देने में टॉप पर रहा है। 

आंकड़ों के मुताबिक 6 महीने की अवधि में (12 मार्च से 13 सितंबर 2020) आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल वैल्यू डिस्कवरी फंड ने 18.30 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी अवधि में आदित्य बिरला सन लाइफ प्यूर वैल्यू ने 11.19 प्रतिशत, टाटा इक्विटी पीई ने 10.08 प्रतिशत और एचडीएफसी कैपिटल बिल्डर वैल्यू फंड ने 9.39 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी तरह निप्पोन इंडिया वैल्यू फंड ने 7.94 प्रतिशत, एलएंडटी इंडिया वैल्यू ने 7.70 प्रतिशत, यूटीआई वैल्यू अपोर्च्युनिटीज फंड ने 6.24 और आईडीएफसी स्टर्लिंग वैल्यू फंड ने 2.33 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी अवधि में इसके बेंचमार्क निफ्टी 500 वैल्यू 50 टोटल रिटर्न इंडेक्स ने 15.89 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।  

आंकड़ों से पता चलता है कि बेंचमार्क से ज्यादा रिटर्न केवल आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल ने दिया है। पीयर ग्रुप एवरेज की बात करें तो इसने 6 महीने में 9.24 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी तरह 10 साल (12 सितंबर 2010 से 13 सितंबर 2020) की बात करें तो आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल इसमें भी टॉप पर रहा है। इसके वैल्यू फंड ने 14.62 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। जबकि एचडीएफसी कैपिटल बिल्डर वैल्यू फंड ने 8.91 प्रतिशत का रिटर्न या है। निफ्टी बेंचमार्क 500 वैल्यू 50 ने महज 1.98 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।  

इसी दस साल में आईडीएफसी वैल्यू फंड ने 8.32 प्रतिशत का रिटर्न दिया है जबकि यूटीआई वैल्यू ने 8.73 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। एलएंडटी इंडिया वैल्यू ने 11.30 प्रतिशत का जबकि निप्पोन इंडिया वैल्यू फंड ने 8.17 प्रतिशत का रिटर्न निवेशकों को दिया है। टाटा इक्विटी पीई ने इस दौरान 10.26 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। आदित्य बिरला सन लाइफ के प्यूर वैल्यू फंड ने 9.24 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। पीयर ग्रुप एवरेज ने 9.72 प्रतिशत का रिटर्न दिया है।  

एक साल की अवधि की बात करें यानी 12 सितंबर 2019 से 13 सितंबर 2020 तक की अवधि में आईसीआईसीआई प्रडेंशियल वैल्यू ने 6.21 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। बिरला सन लाइफ के प्यूर वैल्यू ने -1.62 प्रतिशत, एचडीएफसी कैपिटल बिल्डर वैल्यू फंड ने -0.95 प्रतिशत, आईडीएफसी स्टर्लिंग वैल्यू फंड ने -3.32 प्रतिशत, निफ्टी 500 वैल्यू 50 टीआरआई ने -9.55 प्रतिशत का घाटा दिया है। हालांकि टाटा इक्विटी पीई ने 2.80 प्रतिशत, निप्पोन इंडिया वैल्यू ने 4.05 प्रतिशत और एलएंडटी वैल्यू ने 3.73 प्रतिशत का लाभ दिया है।  

आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल के वैल्यू फंड का लॉर्ज कैप में 80.63 प्रतिशत एक्सपोजर है जबकि मिड कैप में 16.66 और स्माल कैप में महज 2.71 प्रतिशत है। यह फंड फार्मा, सॉफ्टवेयर और टेलीकॉम में ओवरवेट है। बैंकिंग और फाइनेंशियल में अंडरवेट है। विश्लेषकों के मुताबिक निवेशकों को वैल्यू डिस्कवरी में निवेश करते समय यह बात ध्यान में रखनी चाहिए कि कौन सा फंड बेहतर प्रदर्शन कर रहा है। उन्हें निवेश सलाहकारों से सलाह लेकर निवेश करना चाहिए। जिस तरह से कम और ज्यादा दोनों अवधि में वैल्यू डिस्कवरी फंड ने प्रदर्शन किया है, उससे यह एक अच्छी स्कीम निवेशकों के लिए साबित हुई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *