मिड कैप फंड दे रहे हैं बेहतर रिटर्न, बेंचमार्क और कैटिगरी की तुलना में इस फंड का रहा अच्छा रिकॉर्ड

मुंबई– पिछले कुछ समय से मिडकैप फंड बेहतर रिटर्न दे रहे हैं। बेंचमार्क और कैटिगरी की तुलना में इन्वेस्को इंडिया मिड कैप ने अच्छा लाभ निवेशकों को दिया है। अप्रैल 2017 में लांच यह फंड क्रिसिल म्यूचुअल फंड की रैंकिंग में पिछली तीन तिमाहियों में टॉप 30 पर्सेंटाइल में रहा है। जुलाई 2020 में इस फंड का एयूएम 875 करोड़ रुपए रहा है। तीन साल पहले यह 173 करोड़ रुपए था। इस स्कीम का निवेश का उद्देश्य मिड कैप में निवेश कर पूंजी में वृद्धि करना है।  

इस फंड का लगातार आउट परफॉर्म इसके बेंचमार्क निफ्टी मिड कैप 100 टीआरआई और इसके पियर्स की तुलना में ज्यादा रहा है। अर्थलाभ डॉटकॉम के आंकड़े बताते हैं कि अगर किसी ने 10 हजार रुपए 19 अप्रैल 2007 को इसमें निवेश किया होगा तो यह 12 अगस्त 2020 को 50.690 रुपए हो गया है। यानी सालाना 12.95 प्रतिशत का रिटर्न इस फंड ने दिया है। इसी अवधि में इस फंड की कैटिगरी और बेंचमार्क में यह राशि 40,428 रुपए (11.05 प्रतिशत) और 37,657 रुपए (10.46) हो गई होगी।  

अर्थलाभ के आंकड़ों के अनुसार अगर किसी निवेशक ने अनुशासित तरीके से एसआईपी के तहत निवेश किया होगा तो भी उसे अच्छा रिटर्न मिला है। एसआईपी के तहत आप नियमित रूप से एक तय निवेश कर सकते हैं। अगर किसी ने मासिक 10 हजार रुपए पिछले दस सालों से निवेश किया होगा तो वह राशि इस फंड में 12 अगस्त 2020 तक 24.47 लाख रुपए (13.78 प्रतिशत) हो गई है। जबकि बेंचमार्क में यही राशि 18.82 लाख रुपए (8.79 प्रतिशत) हुई है। इस तरह से एकमुश्त और एसआईपी दोनों तरीके से किए गए निवेश में निवेशकों को इस फंड में बेंचमार्क और कैटिगरी की तुलना में बेहतर रिटर्न मिला होगा।  

पिछले तीन सालों से इस फंड ने मिड कैप स्टॉक में ही मुख्य रूप से निवेश किया है। इसका औसत एक्सपोजर मिड कैप में 61.52 प्रतिशत रहा है। लॉर्ज कैप में 22.51 प्रतिशत और स्माल कैप में 12.10 प्रतिशत औसत एक्सपोज रहा है। इस फंड ने मिड कैप में 2018 मार्च के बाद एक्सपोजर बढ़ाया क्योंकि सेबी की मिड कैप की परिभाषा बदल गई थी।  

इस पोर्टफोलियो का डाइवर्सिफिकेशन 55 सेक्टर्स में पिछले तीन सालों से है। बैंक में इसका सबसे ज्यादा 8.39 प्रतिशत एक्सपोजर है जबकि फार्मा में 8.16, फाइनेंस में 5.94, गैस में 4.52 और रिटेलिंग में 4.19 प्रतिशत एक्सपोजर है। पिछले तीन सालों में इसका 104 स्टॉक्स में एक्सपोजर रहा है। इसमें प्रमुख शेयरों में वीआईपी इंडस्ट्रीज, डिक्सन टेक्नोलॉजी, आईआरसीटीसी और अपोलो हॉस्पिटल प्रमुख रहे हैं।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.