बाजार की तेजी में इक्विटी म्यूचुअल फंड से निवेशकों ने पैसे निकाले, एसआईपी से भी निकासी हुई

मुंबई- म्यूचुअल फंड में निवेशकों ने बाजार की तेजी में पैसा कमाया है। इन निवेशकों ने जुलाई महीने में इक्विटी म्यूचुअल फंड से पैसे निकाले हैं और इसे डायरेक्ट शेयर बाजार में निवेश किया है। हालांकि इसी दौरान इन्होंने एसआईपी से भी पैसे निकाले हैं। जून की तुलना में जुलाई में खातों की संख्या बढ़ी है।  

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एंफी) के आंकड़ों के मुताबिक जुलाई महीने में एसआईपी के जरिए कुल 7,830.77 करोड़ रुपए म्यूचुअल फंड में आए। जबकि एसआईपी के कुल खातों की संख्या 3 करोड़ 27 लाख 32 हजार 255 रही। एसआईपी एयूएम 3 लाख 19 हजार 337 करोड़ रुपए रहा। जबकि जून में यह आंकड़ा इससे कम था। जून में कुल खातों की संख्या 3 करोड़ 22 लाख 99 हजार 605 थी। जबकि एसआईपी के जरिए 7,927 करोड़ रुपए आए और इसका एयूएम 3 लाख 384 करोड़ रुपए था। इस तरह से जून महीने की तुलना में जुलाई में एसआईपी खातों एयूएम में अच्छी वुद्धि देखी गई।   

एंफी के आंकड़े बताते हैं कि जून की तुलना में जुलाई महीने में निवेशकों ने इक्विटी म्यूचुअल फंड से पैसे की निकासी की। इक्विटी से 2,480 करोड़ रुपए की निकासी की गई जबकि हाइब्रिड स्कीम्स से 7,301 करोड़ रुपए की निकासी की। जून महीने में इक्विटी में 240 करोड़ रुपए आए थे जबकि हाइब्रिड में 355 करोड़ रुपए आए थे। इसकी तुलना में जुलाई में निवेशकों ने इन दोनों से पैसे निकाले थे। 

दरअसल टैक्स सेविंग स्कीम्स और फोकस्ड इक्विटी फंड्स के अलावा सभी कैटेगरी से पैसे निकाले गए हैं। इसका एकमात्र कारण निवेशकों द्वारा पैसा निकालना है।  मार्च के निचले स्तर से लेकर अब तक निफ्टी में 47 प्रतिशत से ज्यादा की तेजी आई है। कुछ विश्लेषकों का कहना है कि निवेशकों ने म्यूचुअल फंड से पैसा निकालकर सीधे इक्विटी में निवेश किया है। यही कारण है कि इक्विटी म्यूचुअल फंड में जुलाई महीने में निवेश में कमी आई है।  

वैसे आंकड़े बताते हैं कि जुलाई में करीबन 11 लाख  एसआईपी खाते बढ़े हैं। जून में 9.13 लाख निवेशक बढ़े थे। गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड में 921.19 करोड़ रुपए की राशि जुलाई में आई है जबकि जून में यह 494 करोड़ रुपए था। यानी दोगुना की वृद्धि हुई है। इसका कारण यह है कि निवेशकों ने सुरक्षित दांव के लिए गोल्ड ईटीएफ में निवेश किया है।  जुलाई में कुल 8 स्कीम्स लांच की गई। इनके जरिए 11,737 करोड़ रुपए जुटाए गए। म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का कुल एयूएम 25 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा रहा है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *